Wednesday, 7 June 2017

खतरनाक अपेन्डिक्स मे बरतें सावधानियां


पेट मे  होने वाले दर्द को अपच, गैस , एसिडिटी और भी तरह - तरह  की बीमारियों से जोड़ा जाने लगता है दर्द से राहत पाने के लिए लोग दवा भी  खाने लगते हैं. बार - बार होने वाले पेट दर्द को कतई इगनोर  नही करना चाहिए  ये खतरनाक अपेन्डिक्स (apendix) हो सकता है


appendix-is-dangerous-for-appendix


अपेन्डिक्स क्या है ? और इसका काम क्या है ?

अपेन्डिक्स  हमारे पेट मे मौजूद छोटी आँत का एक छोटा सा हिस्सा है जो 4-5 इंच लम्बा होता है , जो बढ़ जाता है  और वह बढ़ा  हुआ हिस्सा अपेन्डिक्स  कहलाता है
हालाँकि इस अंग का कोई खास काम नही होता है

अपेन्डिक्स किसको हो सकता है

अपेन्डिक्स  किसी भी उम्र के पुरुष (male) , और  महिला ( female) को हो सकता है पर यह बीमारी ज्यादातर 10-30 उम्र  के लोगों को अधिक हो रही है. आज की तारीख मे हर तबके और हर उम्र के लोग  अपेन्डिक्स  का शिकार हो रहे हैं

'अपेन्डिक्स  का सही समय पर उचित इलाज ना  कराने पर अपेन्डिक्स  के मरीज की जान जा सकती है '

अपेन्डिक्स की पहचान अर्थात लक्षण  symtoms of apendix or apendix attack


1-  "अपेन्डिक्स  मे  सबसे पहले पीड़ित  व्यक्ति को नाभि ( navel ) के पास से तेज दर्द शुरू होता है उसके बाद यह दर्द पेट के निचले दाहिने हिस्से तक पहुँच जाता है

2- अपेन्डिक्स  अट्टैक के दौरान दर्द के साथ उल्टी होना, बुखार जाना

3- अपेन्डिक्स अटैक के दौरान छींक आना, और साँस लेने मे तकलीफ  होना

4- भूख कम लगना

ये सब अपेन्डिक्स के पहचान हैं

अपेन्डिक्स होने के कारणcauses of apendix


1- ज्यादा फास्ट फुड खाना

2- खाने मे फाइबर  की कमी होना

3- ज्यादा दिनो से कब्ज का  होना

4- अनहाईजेनिक भोजन करना

अपेन्डिक्स का इलाजtreatment of apendix


apendix  के दर्द को दवा और इंजेक्शन की मदद से कम किया जा सकता हैअगर इस बीमारी को जड़   से मिटाना है तो  ऑपरेशन कराना ज़रूरी है एक बार ऑपरेशन होने के बाद अपेन्डिक्स को  फीर से होने की सम्भावना  नही होती हैयाद रखें ऑपरेशन ही एक मात्र उपाय है घरेलू उपाय काम नही करेगा इसलिये आप घरेलू उपाय से बचें नही तो आपकी जान भी जा सकती है

अपेन्डिक्स का ऑपरेशन कब कराना चाहिये

अपेन्डिक्स का ऑपरेशन दर्द के समय या दर्द उठने के एक महीने के अंदर किसी भी समय कराया जा सकता है.

ऑपरेशन के बाद क्या खाना चाहिए

ऑपरेशन होने के बाद मरीज को  कुछ  दिनों तक फ्रूट , जूस , और हलका  खाना ही खाना चाहिए

0 comments

Post a Comment